डाक्टर भीम राव अंबेडकर के बारे में आज लगभग संपूर्ण जानकारी दी गयी है । यह बहुत ही महत्वपूर्ण है  सभी भारतीय नागरिकों को जानने के लिए ।

– 14 अप्रैल 1891 को मध्य प्रदेश के महू में जन्मे। – रामजी मालोजी सकपाल और भीमाबाई के 14वें और अंतिम संतान थे। – 'महार' जाति से थे, जो उस समय 'अछूत' मानी जाती थी।

शिक्षा और योगदान: – उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले पहले दलित व्यक्ति थे। – एलफिंस्टन कॉलेज, बॉम्बे से अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान में स्नातक।

– लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से डी.एसc. – भारत लौटने पर, दलितों के अधिकारों के लिए संघर्ष किया। – 'बहिष्कृत हितकारिणी सभा' और 'अनुसूचित जाति महासंघ' की स्थापना।

संविधान सभा में योगदान: – भारत के संविधान सभा के सदस्य और प्रारूप समिति के अध्यक्ष। – भारतीय संविधान के मुख्य वास्तुकार। – जातिवाद, छुआछूत और भेदभाव के खिलाफ लड़ाई।

महत्वपूर्ण योगदान: – भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर। – श्रम मंत्री, भारत सरकार। – 'बौद्ध धर्म' में परिवर्तन। – 'मनुस्मृति' की जलाकर आलोचना।

मृत्यु और विरासत: – 6 दिसंबर 1956 को दिल्ली में निधन। – 'बाबासाहेब' और 'दलितों के मसीहा' के रूप में जाने जाते हैं। – भारत के सबसे महत्वपूर्ण सामाजिक सुधारकों में से एक।

अंबेडकर की उपलब्धियां: – भारतीय संविधान का निर्माण। – दलितों के लिए आरक्षण की व्यवस्था। – छुआछूत कानून का निर्माण। – महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ाई। – शिक्षा और आर्थिक विकास के लिए काम।

अंबेडकर की शिक्षाएं: – सामाजिक न्याय और समानता। – भाईचारा और सद्भाव। – शिक्षा और आत्मनिर्भरता। – संघर्ष और विरोध।

अंबेडकर का प्रभाव: – भारत में दलित आंदोलन को प्रेरित किया। – सामाजिक न्याय और समानता के लिए संघर्ष को मजबूत किया। – भारतीय राजनीति और समाज को प्रभावित किया।

अंबेडकर के बारे में जानकारी के स्रोत: – पुस्तकें:'डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर: जीवन और कार्य' - धनंजय कीर 'भीमराव रामजी अंबेडकर' - योगेश्वर प्रसाद 'The Annihilation of Caste' - B.R. Ambedkar